सीएम योगी की पुलिस ने जमातियों के खिलाफ दिखाया रौद्र रूप

सीएम योगी की पुलिस ने जमातियों के खिलाफ दिखाया रौद्र रूप

उत्तरप्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पुलिस ने तबलीगी जमात के लोगों के खिलाफ खड़ा रुख अख्तियार कर लिया है.

Yogi announces Rs 1000 crore 'corona care fund', seeks action ...



लखनऊ: कोरोना संक्रमण से उत्तरप्रदेश के लोगों को बचाने के लिए योगी आदित्यनाथ लगातार संघर्ष कर रहे हैं. उन्होंने प्रदेश की जनता के खातिर अपने पूर्वाश्रम के जन्मदाता और पिता के अंतिम संस्कार तक मे हिस्सा नहीं लिया. किसी भी व्यक्ति के लिये उसके पिता का निधन सबसे दुखद क्षण होता है लेकिन इस कठिन समय में भी सीएम योगी ने विचलित हुए बिना जनसेवा की और ये साबित कर दिया कि सन्यासी सबसे बड़ा जनसेवक होता है.

ये भी पढ़ेंः – बिजली भुगतान को लेकर योगी सरकार का बड़ा तोहफा…

कनिका कपूर को लेकर हुआ एक और बड़ा खुलासा…..

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समर्पण और त्याग की इन जेहादी तबलीगी जमातियों को जरा भी फिक्र नहीं है. इसलिये अब उत्तरप्रदेश पुलिस ने इन जाहिलों को कठोर सजा दिलाने के लिए रौद्र रूप अपना लिया है. पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी करके इन जमातियों को पकड़ना शुरू कर दिया है.



48 घण्टे में धर दबोचे 150 जमाती

आपको बता दें कि बीते 48 घंटों में यूपी में तबलीगी जमात के 150 सदस्यों को ढूंढा गया. यूपी में अब तक 3,204 तबलीगी जमातियों को पकड़कर क्वारंटीन किया जा चुका है. ये जमाती लगातार आम लोगों के लिए खतरा उत्पन्न कर रहे थे. कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है. इनमें 341 विदेशी भी शामिल हैं.

पुलिस के मुताबिक 500 जमाती छिपे

उत्तरप्रदेश पुलिस ने बताया कि राज्य में 500 से अधिक जमातियों के छिपे होने का इनपुट मिला है. ये इनपुट मिलने के बाद यह अभियान शुरू किया गया था. गुजरात के तबलीगी जमात के करीब 10 सदस्यों का कानपुर में पता लगाया गया. जबकि मेरठ पुलिस जोन के 123 जमातियों को मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर, मेरठ, बागपत, बुलंदशहर, गाजियाबाद और हापुड़ जिले से पकड़ा गया.

ये भी पढ़ेंः – योगी सरकार ने दी आम जनता को एक और राहत, अगले 3 महीने की माफ़ कराई…





40 हजार रुपये तक दी जा रही है स्कूटर की कीमत में छूट

1400 जमाती मेरठ में पकड़े गए

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले मेरठ में 1400 जमाती पकड़े गए थे. ये लोग थूक लगाकर सब्जी बेचते भी पकड़े गए थे. कई जगहों पर इन लोगों ने स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिसवालों पर हमला भी किया था. मेरठ के एडीजी ने मीडिया को बताया था कि जिले में स्पेशल टीमें तैनात की गई थीं जो पब्लिक एड्रेस सिस्टम के जरिए लोगों से जमातियों का पता बताने की अपील कर रही हैं जो उनके इलाके में शरणार्थी बने हुए हैं. उन्होंने बताया कि अकेले मेरठ जोन में ही 1400 जमातियों को पकड़ा गया है.

बता दें कि स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन ने बताया कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 1507 मामले गुरुवार शाम तक सामने आए हैं. इनमें से 187 लोग इलाज के बाद ठीक होकर अस्पताल से घर जा चुके हैं. वहीं इस बीमारी से प्रदेश में 21 लोगों की मौत हुई है. इस तरह अब प्रदेश में कोरोना संक्रमण के संक्रिय मामलों की संख्या 1299 है.

ये भी पढ़ेंः –  अभी-अभी यूपी में जोरदार धमाका: दहल गया प्रदेश, घरों से निकल कर भागे लोग



                कोरोना के कारण इस बाइक की कीमत हुई साइकिल के दाम के बराबर 23000 का भारी डिस्काउंट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *