BJP नेता सिंधिया ने गहलोत नहीं, पायलट को लगाया फोन और बन गई बात

BJP नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की दोस्ती किसी से छिपी नहीं है। कांग्रेस छोड़ने से पहले भी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सचिन पायलट से मुलाकात की थी। अब राजस्थान में एक काम के लिए सिंधिया ने वहां के CM अशोक गहलोत को नहीं दोस्त सचिन पायलट को फोन लगाया। ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट के बीच अच्छी ट्यूनिंग है। दोनों केंद्र में साथ में मंत्री रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर सचिन पायलट ने कहा था कि सिंधिया का इस तरह से पार्टी से जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। इन चीजों को पार्टी में मिलजुल कर हल किया जा सकता था।

दरअसल, गुना के रहने वाले आशीष जैन नाम के एक शख्स ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और CM शिवराज सिंह चौहान से मदद मांगी थी। आशीष ने ट्वीट कर ज्योतिरादित्य सिंधिया को लिखा कि मेरी बेटी कोटा में फंसी हुई है। वह वहां पढ़ाई के लिए गई है। वहां हॉस्टल में रहती है और अच्छा महसूस नहीं कर रही है। उसे गुना स्थित अपने घर लाने के लिए आपकी मदद की जरूरत है। आशीष जैन ने ज्योतिरादित्य सिंधिया से यह मदद 17 अप्रैल को मांगी थी।

आशीष द्वारा डिटेल भेजे जाने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से बात की। उसके बाद उन्होंने आशीष को रिप्लाई करते हुए लिखा कि प्रिय आशीष, आप से दूरभाष पर चर्चा के अनुसार, मेरी राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से आपकी बिटिया अंशिका की सुरक्षा को लेकर चर्चा हुई है। कृपया आप आश्वस्त रहें कि आपकी बेटी की उचित देखभाल की जाएगी। और शीघ्र ही उसके घर वापसी की कोशिश की जा रही है।

प्रिय आशीष,
आपसे दूरभाष पे चर्चा के अनुसार, मेरी राजस्थान के उप मुख्यमंत्री, सचिन पायलट जी से आपकी बिटिया, अंशिका, के सुरक्षा को लेकर चर्चा हुई है। कृपया आप आश्वस्त रहें कि आपकी बेटी की उचित देखभाल की जाएगी। और शीघ्र ही उसकी घर वापसी की कोशिश की जा रही है। @SachinPilot https://twitter.com/Vedanshjain5/status/1251195541234561026 

ashish jain@Vedanshjain5

@JM_Scindia @ChouhanShivraj my daughter is stuck in kota , she went for studies there . She is staying in hostel and is unwell. please need your help in bringing her home to guna .

2,247 people are talking about this
source twitter

गुना ज्योतिरादित्य सिंधिया का संसदीय क्षेत्र रहा है। वहीं से वह चुनाव लड़ते रहे हैं। आशीष जैन के ट्वीट पर उन्होंने रिप्लाई करते हुए 18 अप्रैल को लिखा कि आप चिंता मत कीजिए। अपना इन बॉक्स चेक कीजिए। आपकी डिटेल की जरूरत है। आशीष ने उसके बाद ज्योतिराज सिंधिया को डिटेल भेजा। 19 अप्रैल को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने फिर से ट्वीट करते हुए लिखा कि राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने मेरे अनुरोध के बाद राजस्थान शहर के कोटा में फंसी गुना शहर की बिटिया अंशिका को शीघ्र अपने घर भेजने को लेकर भी आश्वस्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *