क्या कोरोना की वजह से ट्रम्प राष्ट्रपति चुनाव हार जाएंगे? जानिए क्या कहता हैं अमेरिकी सट्टा बाजार

क्या कोरोना की वजह से ट्रम्प राष्ट्रपति चुनाव हार जाएंगे? जानिए क्या कहता हैं अमेरिकी सट्टा बाजार

 

वाशिंगटन।
क्या कोरोना ( Coronavirus ) की वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( US President Donald Trump ) राष्ट्रपति चुनाव हार जाएंगे? वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट इसी तरफ इशारा कर रही है। इस रिपोर्ट में चुनावी सर्वे छापा गया है। जिसके मुताबिक, कई इलाकों की सीनेट रेस में रिपब्लिकन पार्टी ( Republican Party ) को डेमोक्रेटिक पार्टी से पिछड़ता दिख रही हैं। साथ ही रिपब्लिकन पार्टी के अंदरुनी सर्वे भी इस बात का इशारा कर रहे हैं। रिपब्लिकन पार्टी के लोगों को डर लग रहा है कि ट्रंप की खराब हैंडलिंग और झूठ बोलने के चक्कर में वो सीनेट में बहुमत न खो दें।

ये भी पढ़ेंः  अभी-अभी भूकंप से थर्रायी धरती: डरे-सहमें लोग घरों से बाहर

कोरोना ने हराया!
बता दें कि कोरोना महामारी से पहले व्हाइट हाउस ( White House ) में ट्रंप की दोबारा वापसी पक्की थी। लेकिन, अब हालात उल्टे हो गए। द क्विंट के मुताबिक, अमेरिका में राष्ट्रपति की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार मॉनिटर किया जाता है। उनकी एप्रुवल रेटिंग जहां पहले 51 % के ऊपर रहती थी, लेकिन अब गिरकर 43% पर आ गई है। कोरोना काल में ट्रंप के समर्थक उसने नाराज हैं। ऐसे में उनको एक तिहाई तट्स्थ वोटरों से वोट खींचने पड़ेंगे, वरना उनकी जीत खतरे में पड़ सकती है।
सट्टा बाजार में गिरा ट्रंप का भाव ( Online Satta 2020 )
अमेरिका का सट्टा बाजार ( Satta Bazar ) भी ट्रंप की हार-जीत को लेकर कई रुख दिखा रहा है। अलग अलग सट्टा बाजार के विभिन्न भाव हैं लेकिन, तकरीबन सभी ट्रंप की जीत के 50% आसार बता रहे हैं। कुल मिलाकर सट्टा बाजार में ऑड यानी रेट बदला है। ट्रंप की जीत का भाव नीचे गिरा है।

ये भी पढ़ेंः भारत में कोरोना काल का सबसे बड़ा समाधान: बड़ी खुशखबरी

अमेरिका के हालात खराब ( Coronavirus in America )
कोरोना महामारी से निपटने के लिए ट्रंप की तैयारियों को लेकर लोग भी खासे नाजार हैं। लाखों लोग बीमार हो गए और हजारों लोग की मौत हो गई। ऐसे में अमेरिकी अर्थव्यवस्था लॉकडाउन की वजह से बुरी तरह से टूट रही है। अमेरिका में बेरोजगारी ने भी सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। करीब 2 करोड़ लोग कोरोना की वजह से बेरोजगार हुए हैं। ऐसे में ये आंकड़ा रिपब्लिकन नेताओं को डरा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *